A-MAN HEALTH CARE One of the Herbal/Ayurveda Production Company

A-MAN HEALTH CARE One of the Herbal / Ayurveda Production Company established in 2015. The company has played a leading role in utilizing the role of modern science to create a world class Ayurveda Health care and Personal Care Products. Under the leadership of our mentor Mr Firoz Alam Khan (owner) Our organization has achieved predefined targets in an efficient manner.

Foto


हर्बल / आयुर्वेद उत्पादन कंपनी में से एक



आयुर्वेदिक चिकित्सा क्या है? What is Ayurvedic Medicine?

आयुर्वेदिक औषधि की प्रभावशीलता एक प्रामाणिक तथ्य है, लेकिन आधुनिक युग में इस प्रणाली की औषधि के प्रति चिंता जताई जाती है। जैसा हम सभी जानते हैं कि महर्षि चरक और आचार्य शुश्रुत द्वारा रचित ग्रंथ आयुर्वेद के नींव है और वे भी इस बात की पुष्टि करते हैं कि जीविका के लिए आहार आवश्यक है।

महर्षि चरक ने ६ पहलू स्पष्ट किये हैं जिससे यह तय किया जा सके कि किस परिस्थिति में क्या खाने योग्य है अथवा नहीं। वे कहते हैं कि भोजन को पथ्य (खाने योग्य, स्वास्थ्य) और अपथ्य (खाने योग्य नहीं, हानिकारक) बनाने के लिए निम्न कारक प्रमुख है:

1.मात्रा (भोजन की)

2.समय (कब उसे पकाया गया और कब उसे खाया गया)

3.प्रक्रिया (उसे बनाने की)

4.जगह या स्थान जहां उसके कच्चे पदार्थ उगाए गए हैं (भूमि, मौसम और आसपास का वातावरण इत्यादि)

5.उसकी रचना या बनावट (रासायनिक, जैविक, गुण इत्यादि)

6.उसके विकार (सूक्ष्म और सकल विकार और अप्राकृतिक प्रभाव और अशुद्ध दोष, यदि कोई है तो)

आचार्य शुश्रुत चिकित्सा के दृष्टिकोण से विभिन्न प्रकार के आहार को उसके सकल मूल गुण से उसका अंतर बताते हैं, और किस को किस परिस्थिति में क्या ग्रहण करना यह निम्न में बताते हैं।.


Foto


A-MAN HEALTH CARE
हर्बल / आयुर्वेद उत्पादन कंपनी . . .

ए-मैन हेल्थ केयर 2015 में स्थापित सबसे बड़ी हर्बल / आयुर्वेद प्रोडक्शन कंपनी में से एक है। कंपनी ने विश्व स्तर के हेल्थ केयर और पर्सनल केयर प्रोडक्ट बनाने के लिए आधुनिक विज्ञान की भूमिका का उपयोग करने में अग्रणी भूमिका निभाई है। हमारे संरक्षक श्री फिरोज आलम खान (मालिक) के नेतृत्व में हमारे संगठन ने एक कुशल तरीके से पूर्वनिर्धारित लक्ष्य हासिल किए हैं।



आयुर्वेदिक दवाओं के लाभ Benefites of Ayurvedic Medicines?

1.आयुर्वेदीय चिकित्सा विधि सर्वांगीण है। आयुर्वेदिक चिकित्सा के उपरान्त व्यक्ति की शारीरिक तथा मानसिक दोनों में सुधार होता है।

2.आयुर्वेदिक औषधियों के अधिकांश घटक जड़ी-बुटियों, पौधों, फूलों एवं फलों आदि से प्राप्त की जातीं हैं। अतः यह चिकित्सा प्रकृति के निकट है।

3.व्यावहारिक रूप से आयुर्वेदिक औषधियों के कोई दुष्प्रभाव (साइड-इफेक्ट) देखने को नहीं मिलते।

4.अनेकों जीर्ण रोगों के लिए आयुर्वेद विशेष रूप से प्रभावी है।

5.आयुर्वेद न केवल रोगों की चिकित्सा करता है बल्कि रोगों को रोकता भी है।

6.आयुर्वेद भोजन तथा जीवनशैली में सरल परिवर्तनों के द्वारा रोगों को दूर रखने के उपाय सुझाता है।

7.आयुर्वेदिक औषधियाँ स्वस्थ लोगों के लिए भी उपयोगी हैं।

8.आयुर्वेदिक चिकित्सा अपेक्षाकृत सस्ती है क्योंकि आयुर्वेद चिकित्सा में सरलता से उपलब्ध जड़ी-बूटियाँ एवं मसाले काम में लाये जाते हैं।